धोनी का IPL 2018 में CSK की ओर से खेलने का रास्ता साफ!

By Jagatvisio :07-12-2017 06:38


आईपीएल 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स की वापसी होना तय है. इसी के साथ ही आईपीएल गर्वनिंग काउंसिल की बैठक से ये लगभग साफ हो गया है कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई सुपर किंग्स का ही हिस्सा होंगे. एक टीम को अपने 5 खिलाड़ियों को रिटेन करने का अवसर दिया जा सकता है.

इनमें टीम अपने तीन प्लेयर को रिटेन कर सकती है, जबकि बाकी दो प्लेयर में उसके पास राइट टू मैच का अधिकार होगा. राइट टू मैच के मुताबिक, अगर प्लेयर पर बोली लगती है तो वह ये कार्ड चलकर उस प्लेयर को बोली की राशि के साथ ही अपनी टीम में शामिल कर सकती है.

आईपीएल गर्वनिंग काउंसिल की बैठक में COA के मेंबर भी शामिल हुए थे. इस टीम में टीम के खर्च की रकम को भी बढ़ाने पर भी चर्चा हुई है. बैठक में शामिल हुए एक अधिकारी ने बताया कि बैठक में तय हुआ है कि टीम अपने तीन खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है, उनके अलावा दो प्लेयर्स को राइट टू मैच का अधिकार होगा.

काउंसिल इन ऑप्शन्स को टीम फ्रेंचाइजी के पास भेजेगा, जिस पर उन्हें तय करना है. इसके साथ ही टीम के खिलाड़ियों को खरीदने के लिए खर्च को भी 66 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 80 करोड़ रुपए किया जा सकता है. जो प्लेयर अनकैप (जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है) हैं उनकी सैलरी को भी बढ़ाया जा सकता है.

कुछ ऐसा होगा नया प्रारूप -

- 2018 के लिए सैलरी कैप को बढ़ाकर 80 करोड़, 2019 के लिए 82 करोड़ और 2020 के लिए 85 करोड़.

- अगर तीन खिलाड़ियों को रिटेन किया जाता है तो 1 प्लेयर को 15 करोड़ मिल सकेंगे, दूसरे प्लेयर को 11 करोड़ और तीसरे प्लेयर को 7 करोड़.

- अगर दो प्लेयर्स को रिटेन किया जाता है तो पहले खिलाड़ी को 12.5 करोड़, दूसरे खिलाड़ी को 8.5 करोड़ मिल पाएंगे.

- अगर एक ही खिलाड़ी को रिटेन किया जाता है तो उसे अधिकतम 12.5 करोड़ रुपए मिल सकते हैं.

आपको बता दें कि दो वर्षों का प्रतिबंध झेलने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स अगले सीजन से वापसी कर रही हैं. जाहिर है आईपीएल -11में गुजरात लायंस और राइजिंग पुणे सुपर जाइंट नहीं खेलेंगे.
 

Source:Agency