नेशनल बॉक्सर पर हमला, चेहरे पर किए ब्लेड से वार, 20 टांके लगे

By Jagatvisio :07-12-2017 07:27


भोपाल। कोलार इलाके में एक नेशनल बॉक्सिंग खिलाड़ी के चेहरे पर कई वार करने के बाद चेहरा बुरी तरह से बिगड़ दिया। हमले के पीछे तीन दिन पहले आरोपी द्वारा बच्चों के साथ मारपीट कारण बताया जा रहा है। जिसका बदला लेने के आरोपी ने अपने आधा दर्जन साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया। घटना के बाद से आरोपी फरार हैं। आरोपी को पूर्व में भी आपराधिक रिकॉर्ड रहा है। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

कोलार थाना प्रभारी एसआई आरएस ठाकुर ने बताया कि बांसखेडी, कोलार रोड निवासी 25 वर्षीय अंकित वर्मा नेशनल बाक्सिंग खिलाडी हैं। उसके पिता शिवचरण आर्मी से रिटायर्ड हैं। अंकित रातीबढ़ स्थित एक निजी स्कूल में स्पोर्टस टीचर हैं। तीन दिन पहले ओम नगर निवासी जीतू यादव कॉलोनी में कुछ बच्चों को मार रहा था। अंकित ने बीच बचाव करते हुए सबको अलग किया। इससे नाराज जीतू का अंकित से विवाद हो गया। मारपीट के बाद मौके पर पुलिस भी पहुंची थी लेकिन दोनों ने ही रिपोर्ट करने से इंकार कर दिया था।

आरोपी दो दिन घर पर आए

अकिंत के भाई अनिल ने बताया कि दो दिन तक जीतू अपने साथियों से अंकित का पीछा करता रहा। वो अंकित के घर भी पहुंचा था, लेकिन अंकित घर पर नहीं था। इसके बाद से उसका लगातार पीछा कर रहा था। वह आसपास भी उसके बारे में जानकारी जुटा रहा था।

नेशनल कैंप में ले चुका है भाग

अंकित 2012-2013 में टीटीनगर स्थित बॉक्सिंग अकादमी में रहा है। वो दो साल तक हॉस्टल में रह चुका है। इस दौरान उसने पटियाला, दिल्ली, गुवाहटी में लगे नेशनल बॉक्सिंग कैंप में भाग लिया।

पांच लोगों ने पकड़ा, जीतू ने चेहरे पर ब्लेड मारे

मेरा दो दिन पहले बच्चों को लेकर जीतू यादव से विवाद हुआ था। उसके बाद से वो मेरे पीछे लगा था। बुधवार को जमीन का नामातंरण करवाने के लिए मैं सीहोर गया था। वहां से वापस लौट रहा था। तभी कोलार के कफंर्ट स्कूल के पास से पांच से छह लोग खड़े थे। उनके साथ जीतू यादव भी था। आरोपियों ने मुझे हाथ देकर रोका। मेरे साथ मेरा चचेरा भाई भी था। स्थिति देखकर मैंने उसको मदद लाने के लिए भगा दिया था। उसके बाद आरोपियों ने मेरे से जमकर मारपीट की। जीतू ने मेरे चेहरे पर ब्लेड मारी जिससे मेरा चेहरा कट गया। उसने माथे से लेकर नाक और भौंहे पर ब्लेछ से चार से पांच वार किए। वारदात के बाद आरोपी भाग गए। तब तक मेरा चचेरा भाई मदद लेकर आ गया। मुझे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जीतू पर पहले भी बदमाश है, उसका पुलिस रिकार्ड भी है।
 

Source:Agency