युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत को लगा बड़ा झटका, हो गए राजनीति का शिकार?

By Jagatvisio :07-01-2018 06:26


नई दिल्ली, पीटीआइ। युवा विकेटकीपर बल्लेबाज़ ऋषभ पंत को बड़ा झटका लगा है। इस बार ये झटका भारतीय चयनकर्ताओं ने अपने किसी बयान से नहीं दिया बल्कि इस बार उन्हें झटका उनकी घरेलू टीम के संघ यानि की दिल्ली व जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने दिया है।

पंत को ऐसे लगा बड़ा झटका 

डीडीसीए में अंदरूनी राजनीति का एक और नजारा शनिवार को देखने को मिला जब टी-20 घरेलू टूर्नामेंट के लिए युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत को कप्तानी से हटाकर प्रदीप सांगवान को कप्तानी सौंप दी। ऋषभ ने हाल ही में दिल्ली को रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचाया था। कप्तानी एक ऐसे बायें हाथ के तेज गेंदबाज को सौंपी गई, जिसने अपना आखिरी मैच आइपीएल में मई, 2017 में गुजरात लायंस के लिए खेला था।

सांगवान रणजी ट्रॉफी खेलने तक के लिए फिट नहीं थे। वहीं प्रतिबंधित पदार्थ लेने वाले वह पहले क्रिकेटर भी रहे। सांगवान ने 77 टी-20 मुकाबलों में अब तक 71 विकेट लिए हैं। वहीं उन्मुक्त चंद, मनन शर्मा और मिलिंद कुमार जैसे वरिष्ठ खिलाड़ियों को बाहर बैठा दिया गया है।

डीडीसीए ने बताई ये वजह

डीडीसीए के प्रमुख चयनकर्ता अतुल वासन ने कहा कि हमने देखा है कि पंत खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। ऐसे में हम चाहते हैं कि वह सिर्फ अपनी बल्लेबाजी पर ही ध्यान दें। जब उनसे दो बार कोलकाता को आइपीएल चैंपियन बनाने वाले गंभीर को कप्तान नहीं बनाने के बारे में पूछा गया तो वासन ने कहा कि हम चाहते हैं कि गंभीर टीम में एक मेंटर की भूमिका निभाएं। यह तब हुआ जब हाल ही में दिल्ली डेयरडेविल्स ने आइपीएल के आगामी सत्र के लिए ऋषभ पंत पर भरोसा दिखाते हुए उन्हें अपनी टीम में रिटेन किया था।

पहले भी पंत को लगा था झटका

थोड़े दिनों पहले भी पंत को बड़ा झटका लगा था। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने  दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धौनी की तारीफ करते हुए कहा था कि, 'धौनी ही 2019 विश्व कप तक भारतीय टीम के विकेटकीपर बने रह सकते हैं। क्योंकि जिन युवा विकेटकीपरों को मौका दिया गया है उनमें से कोई भी धौनी के करीब तक भी नहीं पहुंचता'। प्रसाद की बात से साफ हो गया था कि चयनकर्ता ऋषभ पंत के बारे में अब अधिक विचार नहीं कर रहे हैं। हालांकि इसके बाद पंत ने कहा था कि उनका काम सिर्फ अच्छा प्रदर्शन करना है और चयनकर्ताओं के पास किसी भी खिलाड़ी को टीम में चुनने और बाहर करने का अधिकार है।

Source:Agency