केजरीवाल सरकार के कवि सम्मेलन से विश्वास का पत्ता कटा

By Jagatvisio :10-01-2018 06:36


नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी (आप) के संस्थापक सदस्यों में शामिल कुमार विश्वास दिल्ली सरकार के लिए उपेक्षित हो गए हैं। कुमार विश्वास मशहूर कवि हैं, फिर भी दिल्ली सरकार की ¨हदी अकादमी उनसे दूरी बना रही है। ¨हदी अकादमी गणतंत्र दिवस के मौके पर हर साल लालकिले में राष्ट्रीय कवि सम्मलेन का आयोजन करती है। इसमें कुमार विश्वास जाते रहे हैं। वह श्रोता के रूप में होते थे, लेकिन इस बार उन्हें इसमें शामिल होने का न्यौता नहीं दिया गया।

इस संबंध में मंगलवार को कुमार विश्वास ने कहा कि यह उनके लिए कोई विशेष मुद्दा नहीं है। सरकार के कवि-सम्मेलनों में उनकी कोई रुचि नहीं रही है, लेकिन जब से दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है, तब से अधिकारी और अकादमी सदस्यों ने उन्हें प्रेमपूर्वक कमोबेश हर कार्यक्रम में अतिथि रूप में बुलाया है। ¨हदी अकादमी के अलावा उर्दू अकादमी, संस्कृत अकादमी, मैथिली-भोजपुरीव पंजाबी अकादमी ने भी उन्हें कार्यक्रमों में आमंत्रित किया है। उन्होंने कहा कि इस बार परिस्थितिया ऐसी हैं कि सरकार की हिम्मत नहीं है कि उन्हें श्रोता के रूप में भी सहन कर सके। संभवत: सरकार में बैठे लोग उनसे नजरें चुराने की कोशिश कर रहे हैं। लाल किले के कवि सम्मेलन में निमंत्रण मिलना न मिलना महत्वपूर्ण विषय नहीं है, क्योंकि वह लोगों के दिलों के लालकिले में बसे हुए हैं। इस मामले में आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि लोगों को पता है कि उनकी अनदेखी क्यों की जा रही है। पार्टी के भीतर किसी मसले पर वह सहमत नहीं हैं, तो उसे सार्वजनिक रूप से साझा नहीं करना चाहिए। घर की बातें घर में सुलझ जाएं तो बेहतर होता है।

Source:Agency