आज राजस्थान में पहली बार दिखाई जाएगी पद्मावत

By Jagatvisio :05-02-2018 09:16


सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद राजस्थान के किसी भी सिनेमाघर में 'पद्मावत' प्रदर्शित नहीं हो पाई. प्रदेश के सभी सिनेमाघर मालिक इस फिल्म से दूरी बनाए हुए हैं. सोमवार को फिल्म का एक शो जोधपुर के सत्यम सिने प्लेक्स में प्रदर्शित किया जाएगा, जिसे हाईकोर्ट जस्टिस संदीप मेहता देखेंगे. इस दौरान रजिस्टार, जस्टिस मेहता के निजी सचिव और स्टेनो भी सिनेमा हाॅल में मौजूद होंगे.

फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली, अभिनेता रनवीर सिंह और अभिनेत्री दीपका पादुकोण पर नागौर जिले के डीडवाणा थाने में एक एफआईआर दर्ज की गई थी. इसमें फिल्म के द्वारा जनभावनाओं को आहत करने और इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया गया था.

एफआईआर रद्द करवाने के लिए हाईकोर्ट में दी थी याचिका
इस एफआईआर को रद्द करवाने के लिए भंसाली ने एक याचिका हाईकोर्ट में दर्ज की थी. याचिका की सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट जस्टिस संदीप मेहता ने भंसाली के अधिवक्ता से कहा था कि जब तक फिल्म नहीं देख लेंगे, तब तक कैसे यह निर्णय करें कि जनमानस की भावनाएं आहत हुई हैं या नहीं. केस की सुनवाई के लिए हाईकोर्ट ने फिल्म स्क्रिनिंग करने का आदेश दिया था. जिस पर भंसाली के अधिवक्ता रवि भंसाली ने कोर्ट के समक्ष सुरक्षा की मांग की थी.


फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान रहेगी सुरक्षा
सरकार द्वारा सुरक्षा दिए जाने का आश्वासन दिए जाने के बाद सोमवार को फिल्म को हाईकोर्ट जस्टिस मेहता को दिखाने के लिए पुलिस कंटोलरूम के समीप स्थित सत्यम सिने प्लेक्स में एक शो प्रदर्शित किया जाएगा. फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान कोई अनहोनी ना हो जाएं इस बात का पूरा ध्यान रखा जाएगा.

सिनेमा हाॅल के चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवानों की पैनी नजर रहेगी. फिल्म स्क्रीनिंग के दौरान पुलिस के आला अधिकारी सहित करीब 200 पुलिस जवानों के तैनात किए जाने की सूचना आ रही है. पुलिस ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर रखी है.

फिल्म को देखने के बाद हाईकोर्ट में मंगलवार को इस मामले में सुनवाई होगी. जस्टिस संदीप मेहता फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली की याचिका पर संभवतः मंगलवार को ही फैसला सुना सकते हैं.

Source:Agency