हाईकोर्ट के निर्देश पर नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता की सर्जरी, भ्रूण निकाला

By Jagatvisio :07-02-2018 08:01


रायपुर। अंबेडकर अस्पताल में मंगलवार को डॉक्टरों ने गैंगरेप पीड़िता की सर्जरी की। दो घंटे सर्जरी के बाद नाबालिग की हालत गंभीर बताई गई। गैंगरेप पीड़िता नाबालिग 24 हफ्ते के गर्भ से थी। उसे नारायणपुर से यहां अस्पताल लाया गया।

बताया गया कि हाईकोर्ट से गर्भपात कराने का आदेश जारी होने पर डॉक्टरों ने सर्जरी की। इसके पहले बाल आयोग की टीम ने स्थिति का जायजा लेकर नाबालिग की ठीक तरह से देखभाल करने निर्देश जारी किए।

बाल आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने अस्पताल पहुंचकर नाबालिग से मुलाकात की। उन्होंने पांच सदस्यीय डॉक्टरों की टीम से भी मुलाकात कर प्रकरण के बारे में पूछा। गर्भावस्था में पहुंची नाबालिग की ठीक तरह से देखभाल करते हुए आगे उपचार करने निर्देश दिए।

देर रात अस्पताल प्रबंधन की ओर से पीड़िता के मामले में सर्जरी को लेकर किसी तरह का खुलासा नहीं किया गया। नाबालिग को आईसीयू में रखे जाने की जानकारी मिली है। बाल आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने बताया कि डॉक्टरों को सतत निगरानी में उपचार करने के निर्देश दिए थे।

24 सप्ताह का भ्रूण निकाला 

सर्जरी के बाद डॉक्टरों की टीम ने 24 सप्ताह का भ्रूण निकाला। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक सर्जरी के बाद पीड़िता की हालत गंभीर बताई गई। ऑपरेशन कक्ष से सीधे आईसीयू में रिफर कर दिया गया। हाईकोर्ट के आदेश पर डॉक्टरों ने गर्भपात की तैयारी की थी।
 

Source:Agency