इरान में विरोध तेज, हवा में महिलाएं लहरा रहीं हैं हिजाब

By Jagatvisio :08-02-2018 07:42


तेहरान (एएफपी)। इरान में हिजाब कानून का विरोध करने वाली महिलाओं की संख्या बढ़ रही है। कानून के प्रति अपना विरोध जताने के लिए महिलाएं हिजाब को निकालकर हवा में लहराती हैं। इस तरह के विरोध और प्रदर्शन की कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहे हैं।

1979 से ही सिर ढंकना अनिवार्य

इरान में साल 1979 की इस्लामिक क्रांति के बाद से ही महिलाओं के लिए सिर ढंकना और सार्वजनिक जगहों पर लंबे और ढीले-ढाले कपड़े पहनना अनिवार्य है। इसे सख्ती से लागू भी किया जाता है। ऐसा न करने पर महिला को जेल व जुर्माने की सजा हो सकती है।

दिसंबर से शुरू हुआ हिजाब का विरोध

बीते कुछ दिनों से देश में सरकार के विरोध में प्रदर्शन जारी है। एक महिला ने रिवॉल्युशनरी स्ट्रीट में इसकी शुरुआत दिसंबर में की थी। इस क्रम में पत्रकार मसिह एलिनजेद के विरोध प्रदर्शन शुरू करने के एक दिन पहले स्कार्फ लहराती हुई महिला की तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई थी। इसके बाद से ही इरान की सड़कों से लेकर सोशल मीडिया पर हर उम्र की महिलाओं द्वारा हिजाब का विरोध खुलेआम किया जाने लगा।

खुला सिर नहीं हो सकता भड़काऊ

महिला दंत चिकित्‍सक समर ने कहा, ‘हर किसी को इस बात की आजादी होनी चाहिए कि वे क्‍या पहनें, मुझे नहीं लगता कि कुछ बालों के बिखरा होना या दिख जाना भड़काउ है।‘ उनका इशारा उस रुढ़िवादी दावे की ओर था जिसके तहत महिलाओं का बाल देखने पर उनका शोषण करने से पुरुष खुद को नहीं रोक सकते हैं।

हिजाब की तुलना मोती की हिफाजत करने वाले ‘सीप’ से

दक्षिणी तेहरान के हम्‍मम में हिजाब की तुलना सीप से की गयी है और लिखा गया है ’सीप में बंद मोती किसी भी नुकसान से सुरक्षित होता है।‘ अपने सिर पर कसकर स्‍कार्फ बांधे पत्रकार हानिह ने कहा, ‘हमारे देश में पुरुषों ने आइडिया दिया है कि महिलाओं को सिर पर स्‍कार्फ बांधना जरूरी है। जब तक मैं जीवित हूं तब तक अपने देश में कभी भी स्‍कार्फ नहीं हटाऊंगी।‘

पुरुषों के शॉर्ट्स पहनने पर भी बैन

यह मामला हाल में ही सार्वजनिक तौर पर सामने आया जब अनेकों महिलाएं बिना स्‍कार्फ पहने सामने आयीं और विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस ने बताया कि इस मामले में 29 लोगों को गिरफ्तार किया गया। दुनिया में इरान एकमात्र ऐसा देश है जहां मुस्‍लिम व गैर मुस्‍लिम महिलाओं को स्‍कार्फ पहनना अनिवार्य है साथ ही पुरुषों का शॉर्ट्स पहनना भी प्रतिबंधित है।

Source:Agency