छत्तीसगढ़ बजट:CM रमन सिंह ने किसानों और एग्रीकल्चर सेक्टर पर किया फोकस

By Jagatvisio :10-02-2018 06:51


नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह छत्तीसगढ़ का बजट पेश कर रहे हैं। इस साल छत्तीसगढ़ में चुनाव होने हैं इसलिए ये माना जा रहा है कि रमन सिंह का बजट चुनावी बजट हो सकता है। सीएम रमन सिंह का बजट2018-19 किसानों और एग्रीकल्चर सेक्टर पर ज्यादा फोकस है। ये बजट इस बार सभी वर्गों पर ध्यान दिया जाएगा।

सभी वर्गो का रखा जाएगा ध्यान

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने बजट पेश करते हुए कहा कि विकास की इस यात्रा को आगे बढ़ाते हुए बतौर वित्त मंत्री के रूप में 12वां बजट पेश करते हुए उन्हें प्रसन्नता हो रही है। उन्होंने कहा कि इस बजट में हर वर्ग का ध्यान रखा गया है।

एग्रीकल्चर सेक्टर पर फोकस रहा बजट

कृषि विभाग में 4,452 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। ये पिछले साल के मुकाबले अधिक है। रमन सिंह ने कहा कि सरकार ने 14 सालों में किसानों की प्राकृतिक संकट में भरपूर मदद की है। प्रधानमंत्री फसल बीमा प्रीमियम के लिए 136 करोड़ का प्रावधान रखा गया है। कृषि की समृद्धता को बढ़ाने के लिए सौदा मंडियों को कंप्यूटरीकृत किया गया है। बजट में सिंचाई योजना के लिए अलग-अलग प्रावधान बजट में रखा गया है।

बजट में कृषि सेक्टर के लिए की ये घोषणाएं..

- सीएम रमन सिंह ने सिचांई के लिए 91 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

- बजट में एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए 13,480 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

- मछली पालन की नई योजना लाई जाएगी।

- राज्य में 6 नए पशु अस्पताल खोले जाएंगे

- राज्य में पशु एंबुलेंस शुरू की जाएगी

- 6 नए कृषि कॉलेज खोले जाएंगे

- फसल क्षति के लिए 533 करोड़ रुपए

- गन्ना किसानों को 40 करोड़ रुपए का बोनस

- शिक्षा क्षेत्र के लिए 12,472 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

- चलो गांव की ओर योजना के लिए 1 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

- कामधेनु यूनिवर्सिटी के लिए 1 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

- 10 नवीन पशु चिकित्सालय भवनों के लिए भी प्रावधान है।

- मत्स्य पालन के लिए मैपिंग के लिए 51 लाख 50 हजार का प्रावधान किया गया है।

- बैंकों से जुड़ी सांविलियन योजना में 5 करोड़ का प्रावधान किया है।

- त्यौहार मेले में दाल भात के संचालन के लिए प्रावधान किया गया है।

हेल्थ सेक्टर

- संपूर्ण टीकाकरण 56 प्रतिशत से बढ़कर 76 प्रतिशत हो गया है।

- चार जिला अस्पतालों में 268 पदों पर सृजन हेतु 9 करोड़ का प्रावधान है।

- राज्य के 283 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में अतिरिक्त पदों के सृजन के लिए 35 करोड़ का प्रावधान है।

- समस्त जांच सुविधाएं नि:शुल्क होंगी। इसके लिए 30 करोड़ का प्रावधान है।

- प्रदेश में मितानिनों की मासक आय में 400-1000 तक की वृद्धि होगी।

- मेडिकल कॉलेज रायगढ़ में 42 पदों के सृजन का प्रावधान किया गया है।

- मेडिकल कॉलेज अस्पताल रायपुर समेत दूसरे जिलों में 68 करोड़ 65 लाख का प्रावधान किया गया है। में सभी वर्गों का ध्यान दिया जाएगा।

शिक्षा क्षेत्र के लिए की ये घोषणा

मुंगेली और भाटापारा में कृषि विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रम का प्रावधान किया जा रहा है।

Source:Agency