वॉलमार्ट के हाथों में बिक जाएगा Flipkart, आज होगा एेलान

By Jagatvisio :09-05-2018 07:17


बेंगलुरुः अमेरिकी रिटेल चेन वॉलमार्ट आज भारत में अपना दमदार कदम रखने जा रहा है। दुनि‍या की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स डील की घोषणा बुधवार शाम तक हो सकती है। वॉलमार्ट आज भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन रि‍टेलर फ्लि‍पकॉर्ट में बड़ी हिस्सेदारी खरीद रही है। डील की सभी औपचारि‍कताएं करीब-करीब पूरी हो चुकी हैं। वॉलमार्ट करीब 21 अरब डॉलर में फ्लिपकार्ट में 70 फीसदी हि‍स्‍सेदारी खरीद रही है। इसके लिए वॉलमार्ट के सीईओ डग मैकमिलन बेंगलुरु पहुंच चुके हैं।

इस डील का ऐलान बेंगलुरु स्थित फ्लिपकॉर्ट मुख्यालय में आयोजित टाउनहॉल मीटिंग में किया जाएगा। इस मीटिंग में मैकमिलन फ्लिपकॉर्ट के एंप्लॉयीज को भारत में अपनी कारोबारी रणनीति से वाकिफ कराएंगे। उसके बाद मैकमिलन दिल्ली रवाना हो जाएंगे। वहां वह शीर्ष सरकारी अधिकारियों से मुलाकात करके उन्हें वॉलमार्ट की योजना की जानकारी देंगे। वॉलमार्ट के सीईओ कंपनी के भारत में 'पिछले दरवाजे से प्रवेश' को लेकर पैदा हुए डर पर भी बात करेंगे। दरअसल, भारत सरकार ने देश में किसी विदेशी रिटेरलर कंपनी को स्टोर खोलने की इजाजत नहीं दी है। 

फ्लि‍पकॉर्ट के टॉप      शेयरहोल्‍डर्स
शेयरहोल्‍डर                  हि‍स्‍सेदारी
सॉफ्टबैंक                    20.8 %
टाइगर ग्‍लोबल            20.6 %
नेस्‍पर                     12.8 %
टेनसेंट                    5.9 %
ईबे सिंगापुर            6.1 %
एक्‍ससेल पार्टनर्स        6.4 %
बि‍न्‍नी बंसल           5.25 %
सचि‍न बंसल           5.55 % 

सचिन बंसल बेचेंगे अपनी पूरी हिस्सेदारी 
वॉलमार्ट अपनी तरफ से यह संकेत देगा कि वह को-फाउंडर बिन्नी बंसल के नेतृत्व में फ्लिपकॉर्ट में इंडियन मैनेजमेंट को बरकरार रखेगा। वॉलमार्ट भारत के कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए जरूरी आधारभूत ढांचा निर्माण में निवेश भी करेगा। फ्लिपकॉर्ट के एक और सह-संस्थापक सचिन बंसल कंपनी में अपनी पूरी 5.5 प्रतिशत की हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेच देंगे। वहीं,फ्लिपकॉर्ट के शुरूआती निवेशकों में रहे टाइगर ग्लोबल और एस्सेल पार्टनर्स भी टेंसेंट के साथ अपनी छोटी-छोटी हिस्सदेरियां बरकरार रखेंगे। कहा जा रहा है कि सॉफ्ट बैंक और नैस्पर्स अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचेंगे। 

वॉलमार्ट क्‍यों चाहती है फ्लि‍पकार्ट?
ग्रेहाउंड रि‍सर्च के सीईओ संचि‍त गोगि‍या ने कहा कि‍ वॉलमार्ट अमेरि‍का और दूसरे देशों में अमेजॉन को टक्‍कर देने का रास्‍ता ढूंढ रही है। ऑनलाइन सेल्‍स को बढ़ाने के लि‍ए वॉलमार्ट अमेरि‍का में हुए हालि‍या जेट.कॉम डील और चीन में जेडी.कॉम के साथ हुई डील से आगे नि‍कलना चाहती है। भारत में वॉलमार्ट को रेग्‍युलेशन के कारण मुश्‍कि‍लों का सामना करना पड़ रहा है और फ्लि‍पकॉर्ट में इन्‍वेस्‍टमेंट उसे ऑनलाइन रि‍टेल मार्केट में बड़ी जगह दे देगा।

बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच की रि‍पोर्ट में कहा गया है कि‍ 43 फीसदी से ज्‍यादा मार्केट शेयर के साथ फ्लि‍पकॉर्ट मार्केट लीडर है। उन्‍होंने अनुमान लगाया है कि‍ 2019 में फ्लि‍पकॉर्ट 44 फीसदी शेयर कायम रखने में सफल रहेगी। वहीं, अमेजॉन का मार्केट शेयर 37 फीसदी और स्‍नैपडील का मार्केट शेयर मात्र 9 फीसदी रह जाएगा।

Source:Agency