बलांगीर ब्लास्ट : पार्सल बुक कराने वाले ऑटो चालक का नहीं मिला सुराग

By Jagatvisio :11-05-2018 07:28


रायपुर। ओडिशा के बलांगीर में शादी की पार्टी के दौरान पार्सल बम विस्फोट मामले में पुलिस की गिरफ्त में आए पाटनगढ़ स्थित विकास ज्योति कॉलेज के प्रोफेसर पूंजीलाल मेहर के खिलाफ तगड़ा सुबूत जुटाने बलांगीर पुलिस लगातार कोशिश कर रही है। दरअसल पुलिस को रायपुर के उस ऑटो रिक्शा चालक की तलाश है, जिसने मेहर के कहने पर फाफाडीह स्थित स्काई किंग कोरियर सर्विस में विस्फोट से भरा पार्सल बुक कराया था।

बलांगीर क्राइम ब्रांच के आइजी अरुण बोथरा इसी सिलसिले में पिछले हफ्ते रायपुर पहुंचे थे। उन्होंने ऑटो रिक्शा चालक संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर पार्सल बुक कराने वाले ऑटो चालक को खोजने में मदद मांगी थी। यही नहीं, ऑटो चालक का नाम-पता बताने वाले को 25 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने ऑटो चालक को इस केस का महत्वपूर्ण गवाह बताते हुए उसे सरकारी गवाह बनाने की जानकारी दी थी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि बलांगीर में हुए पार्सल बम विस्फोट कांड में रायपुर से पार्सल बुक कराने वाले ऑटो चालक की लगातर तलाश की जा रही है। आशंका है कि केस में फंसने के डर से ऑटो चालक पुलिस के सामने आने से बच रहा है, जबकि बलांगीर पुलिस उसे सरकारी गवाह बनाएगी, ताकि विस्फोट की पूरी साजिश रचने वाले प्रो.पूंजीलाल मेहर के खिलाफ कोर्ट में ठोस सुबूत पेश किया जा सके।

गौरतलब है कि रायपुर से पाटनगढ़ भेजे गए पार्सल बम को खोलते ही धमाके में इंजीनियर सौम्य शेखर साहू, उसकी दादी समेत तीन लोगों की मौत हो गई थी। जांच के दौरान खुलासा हुआ कि यह साजिश पाटनागढ़ के ज्योति विकास कॉलेज में अंग्रेजी के प्रोफेसर पूंजीलाल मेहर ने रची थी।

वह कॉलेज का प्राचार्य था, लेकिन पांच महीने पहले उसे हटाकर साथी प्रोफेसर संयुक्ता साहू को प्राचार्य बना दिया गया। इससे पूंजीलाल काफी नाराज था और संयुक्ता की हत्या करने के इरादे से इंटरनेट से सीखकर उसने घर में बैठकर तगड़ा बम तैयार किया था।

Source:Agency