कर्नाटक चुनाव 2018: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के काफिले पर हमला

By Jagatvisio :12-05-2018 06:52


कर्नाटक में मतदान से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भगवान वेंकटेश्वर मंदिर में दर्शन के लिए तिरुपति पहुंचे थे। यहां भगवान वेंकटेश्वर मंदिर में दर्शन किए। एयरपोर्ट लौटते वक्त प्रदर्शनकारियों ने उनके काफिले पर पथराव किया। टीडीपी प्रदर्शनकारियों ने 'अमित शाह गो बैक' के नारे भी लगाए।
बताया जाता है कि तिरुपति के अलीपीरी में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को टीडीपी के विरोध का सामना करना पड़ा। तेलुग देशम पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अमित शाह के खिलाफ प्रदर्शन किया। उनके काफिले के एक वाहन पर कथित रूप से पत्थर भी फेंका गया। शाह यहां तिरुपति बालाजी मंदिर के दर्शन करने पहुंचे थे।
 
अमित शाह यहां तिरूमला पहाड़ियों से रेनीगुंता हवाई अड्डे की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान टीडीपी कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाते हुए नारेबाजी की। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की, साथ ही राज्य से किए गए वादों को पूरा करने के लिए प्रदर्शन किया।
 
इस घटना के बारे में पता लगने पर मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने कार्यकर्ताओं की आलोचना की और उन्हें चेताया कि अनुशासनहीनता के इन कृत्यों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उपमुख्यमंत्री एन चीना राजप्पा ने कहा कि कुछ अज्ञात बदमाशों ने एक पत्थर फेंका जो शाह के काफिले के एक वाहन पर जाकर टकराया।
 
शिकायत दर्ज कराई
तिरुपति (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक अभिषेक मोहंती ने बताया कि पुलिस घटना से जुड़े तथ्यों की बारीकी से पड़ताल कर रही है। इस मामले में भाजपा नेताओं की ओर से शिकायत दर्ज कराई गई है। अभी हमें केवल शुरुआती जानकारी मिली है।

आज मतदान
तीन महीने से अधिक समय तक चले कटुतापूर्ण चुनाव अभियान के बाद 12 मई को कर्नाटक में त्रिकोणीय मुकाबले में नई विधानसभा चुनने के लिए मतदान होगा। राज्य में 4.98 करोड़ से अधिक मतदाता हैं। ये 2600 से अधिक उम्मीदवारों के बीच से अपने प्रतिनिधियों का चुनाव कर सकेंगे।
 
आरआर में 28 को मतदान
कर्नाटक के राजराजेश्वरी (आरआर नगर) में शनिवार को मतदान नहीं होगा। यहां 9 मई को फ्लैट से करीब 10 हजार वोटर आईडी मिले थे। इसी पर संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने शुक्रवार को चुनाव टालने का फैसला किया। अब इस सीट पर 28 मई को मतदान होगा और इसके नतीजे 31 तारीख को आएंगे।

Source:Agency