तेज गर्मी की वजह से मध्यप्रदेश से नहीं ला पा रहे व्हाइट टाइगर

By Jagatvisio :12-05-2018 07:56


रायपुर। जंगल सफारी में व्हाइट टाइगर की दहाड़ के लिए पर्यटकों को थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा, क्योंकि गर्मी अधिक पड़ने की वजह से व्हाइट टाइगर के लाने वाली तिथि में परिवर्तित कर दिया गया है। गर्मी अधिक होने से व्हाइट टाइगर को रास्ते में दिक्कत हो सकती है।

वन प्रबंधन किसी प्रकार का रिस्क नहीं लेना चाह रहा है। इसलिए वन प्रबंधन अब व्हाइट टाइगर को मई के अंतिम माह में लाने की तैयारी कर रहा है। जंगल सफारी में व्हाइट टाइगर के लिए बाड़ा पूरी तरह से तैयार कर लिया गया है।

गौरतलब है कि जंगल सफारी में शेर, चीतल, नीलगाय, भालू, मगरमच्छ सहित अधिकांश जानवर नंदनवन से शिफ्ट किए गए हैं। जंगल सफारी में हर दिन लगभग 400 पर्यटक पहुंच रहे हैं। व्हाइट टाइगर देखने को नहीं मिलने से पर्यटक मायूस होते हैं।

इसे देखते हुए वन प्रबंधन ने व्हाइट टाइगर लाने के लिए सेंट्रल जू ऑफ अथॉरिटी से अनुमति मांगी थी। सेंट्रल जू अथॉरिटी ने बिलासपुर के कानन पेंडारी से पेयर व्हाइट टाइगर लाने के लिए अनुमति दी है। वन प्रबंधन कानन पेंडारी व्हाइट टाइगर को अप्रैल के अंत में लाने की योजना बनाई थी, लेकिन अचानक तापमान बढ़ने की वजह से समय में परिवर्तन कर दिया गया है।

कानन पेंडारी से आएगा व्हाइट टाइगर

बिलासपुर के कानन पेंडारी से व्हाइट टाइगर का जोड़ा आएगा। इसकी सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जोड़े को लाने के लिए रेंजर, डॉक्टर और एसडीओ की टीम गठित कर दी गई है, मई के अंतिम सप्ताह में व्हाइट टाइगर के जोड़े को जंगल सफारी में शिफ्ट कर दिया जाएगा। व्हाइट टाइगर की देखभाल करने के लिए कानन पेंडारी की टीम जंगल सफारी आकर एक सप्ताह रूकेगी। कानन पेंडारी की टीम जंगल सफारी की टीम व्हाइट टाइगर के खान-पान, वातावरण आदि चीजों को बताकर वापस लौट जाएगी।

सुविधा का ध्यान

व्हाइट टाइगर के जोड़े को कानन पेंडारी से लाते समय उन्हें कोई दिक्कत न हो यह वन प्रबंधन के लिए चुनैती है। इसलिए वन प्रबंधन व्हाइट टाइगर का रिकार्ड खंगाल रहा है। जोड़े को ऐसी गाड़ी में लाया जाएगा, जिसमें उनके सोने, खाने की पर्याप्त व्यवस्था हो। साथ में डॉक्टरों की टीम भी मौजूद रहेगी।

इनका कहना है

जंगल सफारी में व्हाइट टाइगर के लिए सारी तैयारी कर ली गई है, लेकिन गर्मी अधिक पड़ने की वजह से लाने की तारीख को पीछे खिसका दिया गया है। मई माह के अंतिम सप्ताह में लाया जाएगा।

- एम मर्सीवेला, डीएफओ, जंगल सफारी

Source:Agency