पटना:नक्सलियों को भगाने की साजिश नाकाम, आज जेल से बाहर आएंगे लालू

By Jagatvisio :16-05-2018 06:27


पटना में कैदी वाहन में विस्फोट, नक्सलियों को भगाने की साजिश नाकाम
पटना के बेउर थाना इलाके में मंगलवार को नक्सलियों को भगाने के मकसद से एक कैदी वाहन में बम विस्फोट किया गया. इस दौरान गोलियां भी चलीं. इस घटना में हालांकि कोई भी कैदी भागने में सफल नहीं हो सका. पुलिस के मुताबिक, पटना सिटी कोर्ट में पेशी के बाद एक कैदी वाहन से कैदियों को बेउर जेल वापस लाया जा रहा था. इसी दौरान में वाहन जैसे ही सिपारा दशरथा मोड़ के पास पहुंचा अचानक कैदी वाहन में बम विस्फोट हो गया. बम फटने की वजह से एक कैदी और एक सिपाही घायल हुए हैं. बम विस्फोट के बाद कैदियों और पुलिसकर्मियों में अफरा-तफरी मच गई. पटना के सीनियर पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि गाड़ी में सवार कैदियों ने ही बम विस्फोट कर भागने की योजना बनाई थी, लेकिन कुछ पुलिसकर्मियों की बहादुरी के कारण ऐसा नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

उन्होंने बताया कि इस घटना में कुछ पुलिसकर्मियों की भी भूमिका संदिग्ध है, जिसकी पहचान की जा रही है. उन्होंने कहा कि जो भी दोषी पाए जाएंगे उस पर कठोर कार्रवाई की जाएगी. मनु महाराज ने बताया कि कैदी वाहन से एक बम, एक पिस्तौल और दो गोलियां भी बरामद की गई हैं.

आज जेल से बाहर आ सकते हैं लालू , जमानत पर रिहाई की संभावना
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद आज जेल से जमानत पर बाहर आ सकते हैं. हाई कोर्ट से उन्हें इलाज के लिए मिला अंतरिम जमानत का आदेश सीबीआई की विशेष अदालत तक मंगलवार नहीं पहुंच सका. जिस कारण उन्हें मंगलवार को भी जेल में ही रहना पड़ा.

बता दें कि बेटे तेजप्रताप की शादी के लिए लालू पेरोल पर बाहर आये थे, लेकिन उसके बाद वो वापस जेल जाना पड़ा. बुधवार को लालू प्रसाद हाईकोर्ट से मिली जमानत की औपचारिकताओं को पूरी करेंगे. इसके बाद वे अपने इलाज के लिए छह हफ्ते के लिए बाहर आ जाएंगे. उनके इलाज की शुरुआत मुंबई से होगी.

मंगलवार को लालू का बेल बांड नहीं भरा जा सका. उनके बेलर लौट गए. इसका कारण यह बताया गया कि अंतरिम जमानत संबंधी हाईकोर्ट का आदेश कोर्ट नहीं पहुंच सका था. अब जमानत की प्रक्रिया बुधवार को पूरी होगी.लालू प्रसाद चारा घोटाला में सजा काट रहे हैं. उनको रांची हाईकोर्ट ने इलाज के लिए छह हफ्ते की सशर्त जमानत दी है. बाहर रहने के दौरान लालू किसी राजनीतिक रैली को संबोधित नहीं करेंगे. मीडिया से बात करने पर भी प्रतिबंध रहेगा.

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए पूछा कि बिहार में सर्वाधिक सीटों वाली पार्टी का नाम क्या है?

दरअसल, नीतीश ने ट्वीट कर कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरने के लिए बीजेपी को बधाई दी थी. तेजस्वी ने उसी बधाई को निशाना बनाते हुए नीतीश कुमार पर कटाक्ष किया.

Source:Agency