बच्चे बनेंगे साइंटिस्ट, डीटीएच चैनल के माध्यम से होगी पढ़ाई

By Jagatvisio :16-05-2018 06:51


रायपुर। केंद्र सरकार की समग्र शिक्षा योजना में अब सरकारी स्कूल पहले से अधिक हाइटेक होंगे। वजह स्कूलों में अब रिसर्च और इनोवेशन पर फोकस होगा। डीटीएच चैनलों पर भी पढ़ाई कराई जाएगी। राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के तहत मिडिल, हाई और हायर सेकंडरी स्कूलों में बच्चों को साइंस और मैथ्स के लर्निंग किट दिए जाएंगे।

इसके अलावा बच्चों के लिए विज्ञान मेला और प्रदर्शनी जिला स्तर पर लगाई जाएगी। हालांकि अभी भी विज्ञान और साइंस में फोकस किया जा रहा है, लेकिन अब इसके साथ आइसीटी और डिजिटल एजुकेशन को जोड़ा जाएगा।

छठवीं के बच्चे भी पढ़ेंगे टैबलेट, कम्प्यूटर पर 

डिजिटल पढ़ाई की नीति के तहत कक्षा छठवीं के बच्चों को भी टैबलेट, लैपटॉप, नोटबुक, टीचिंग लर्निंग डिवाइज, डिजिटल बोर्ड, डिजिटल क्लासरूम, डीटीएच चैनल पर पढ़ाई होगी। डिजिटल मोड पर पढ़ाई करवाने के लिए स्कूलों को दो लाख 40 हजार रुपए से लेकर 6 लाख 40 हजार रुपए तक है।

इनोवेशन के लिए एक भारत-श्रेष्ठ भारत पर चलेगा अभियान

एक भारत- श्रेष्ठ भारत अभियान के तहत इनोवेशन को बढ़ावा दिया जाएगा। बच्चों को तरह-तरह के नवाचार करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके अलावा बच्चों को वोकेशनल कोर्सेस के जरिए उन्हें रोजगार के लिए दक्ष बनाने की भी कवायद चल रही है। शिक्षकों के लिए भी दीक्षा नेशनल टीचर प्लेटफॉर्म प्रोग्राम चलाया जाएगा।

- बच्चों को इनोवेशन के लिए प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति बनी है। इसी के हिसाब से राज्य में भी शिक्षा के लिए बेहतर प्लान तैयार करवाये जा रहे हैं। - एस. प्रकाश संचालक, लोक शिक्षण संचालनालय

Source:Agency