पोंटिंग इंग्लैंड में कॉमेंट्री के साथ ऑस्ट्रेलिया की कोचिंग भी करेंगे

By Jagatvisio :07-06-2018 08:03


मेलबर्न : ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को आगामी इंग्लैंड दौरे के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम के कोचिंग स्टाफ में शामिल किया गया है. वे मुख्य कोच जस्टिन लेंगर के साथ मिलकर काम करेंगे. ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड में पांच वनडे, एक टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है. रिकी हाल ही में आईपीएल के सीजन 11 में दिल्ली डेयरडेविल के कोच रहे थे. उससे पहले मुंबई इंडियन की भी कोचिंग कर चुके हैं. 

लेंगर को हाल ही में डैरेन लैहमन के इस्तीफा देने के बाद टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया था. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की घोषणा के बाद पोटिंग टीम के अपने पुराने साथी लैंगर के साथ जुड़ेंगे. लेंगर ने कहा कि वह पोटिंग के आने से काफी खुश हैं. इससे पहले ये दोनों 2017 में घरेलू सरजमीं पर श्रीलंका के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया की टी 20 टीम को कोचिंग दे चुके हैं.  

अपनी पीढ़ी के बेहतरीन बल्लेबाजों में शामिल 34 वर्षीय पूर्व कप्तान पोंटिंग के पहले से ही 2019 विश्व कप के मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में कमेंटरी के लिए ब्रिटेन के रहने का कार्यक्रम है. पांच मैचों की सीरीज 13 जून से शुरू होगी जिसके बाद एक टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेला जाएगा. वे कॉमेंट्री के साथ अपने पद की जिम्मेदारी संभालेंगे. 

लेंगर ने कहा, "रिकी खेल के महान खिलाड़ियों में से एक हैं. वह पहले से ही इंग्लैंड में हैं और कॉमेंट्री की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं तो हमने सोचा कि उनको इस अहम सीरीज के लिए टीम के साथ शामिल करना अच्छा रहेगा."

इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, "हमने साथ में अच्छा खासी क्रिकेट खेली है और कोचिंग भी की है. बीते दो साल से वह अपने काम और बीबीएल के कारण कई खिलाड़ियों को अच्छे से जानते हैं." उन्होंने कहा, "रिकी की खेल की जानकारी शानदार है. हम जानते हैं कि उनका अनुभव, जानकारी और नेतृत्व क्षमता एक विश्व विजेता टीम बनाने की राह में बेहद अहम होगी."

पोंटिंग इसके अलावा इस साल की शुरुआत में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ टी 20 सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व मुख्य कोच डेरेन लीमैन के सहयोगी की भूमिका भी निभा चुके हैं. मार्च में दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ से जुड़ा मामला सामने आने के बाद लीमैन ने पद छोड़ दिया था.
 
पोंटिंग ने एक खिलाड़ी के रहते हुए 1999, 2003 और 2007 में तीन विश्व कप जीते हैं. इनमें से दो बार वो 2003 और 2007 में कप्तान भी थे. 
पोंटिंग ने हालाकि टीम से जुड़ने की इच्छा तो नहीं जताई थी लेकिन वे अपने टी20 के कोचिंग अनुभव को बढ़ाने की बात जरूर करते रहे थे. उन्होंने केवल जनवरी में कहा, “मैंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से बहुत पहले चर्चा की थी कि किसी रूप में कहीं जुड़ सकूं.” पोंटिंग का कहना है, “मैं कोचिंग को पसंद करता हूं. मुझे अच्छा लगता है कि में खेल को कुछ वापस दे सकूं”

पोंटिंग इससे पहले भी बिगबैश लीग में कॉमेंट्री के साथ साथ कोचिंग कर चुके हैं.  उनका मानना है कि दोनों काम उन्हें सारे खिलाड़ियों के बारे में जानने का मौका देते हैं और खेल की रणनीतियों और क्षमताओं के बारे में समझने का अवसर भी. 

Source:Agency