रायपुर : आरक्षण नियमों में नहीं होगा कोई बदलाव: श्री अमित शाह

By Jagatvisio :11-06-2018 08:48


राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह ने कहा है कि देश में अनुसूचित जाति-जनजाति वर्गों के लिए आरक्षण के नियमों में कोई बदलाव नहीं होगा। अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम में भी कोई परिवर्तन नहीं होगा। श्री शाह ने आज सरगुजा संभाग और जिले के मुख्यालय अम्बिकापुर में प्रदेशव्यापी विकास यात्रा की आमसभा में यह घोषणा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पंचायत एवं नगरीय निकाय संवर्गों के शिक्षकों (शिक्षा कर्मियों) के संविलियन की ऐतिहासिक घोषणा की।

आम सभा को सम्बोधित करते हुए राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार द्वारा गांव, गरीब और किसानों के हित में हर 15 दिन में नई-नई योजनाएं बनाकर उनका संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब तक केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना आदि 116 विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं बनाई गई हैं। श्री शाह ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पिछले 4 वर्ष में प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 30 करोड़ लोगों के बैंक खाते खाले गये हैं और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 3 करोड़ 80 लाख लोगों को रियायती दर पर गैस कनेक्शन दिया गया। उन्होंने बताया कि साढ़े सात करोड़ गरीब परिवारों के घर में शौचालयों का निर्माण कराया गया है और 19 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई गई है। उन्होंने कहा कि 2022 तक सभी गरीब लोगों के लिए पक्के मकान बनाए जाएंगे और हर घर तक बिजली पहुंचाई जाएगी। उन्होंने कहा कि छŸाीसगढ़ को तेरहवे विŸा आयोग के तहत पहले 48 हजार करोड़ रूपए मिला था जो चौदहवें विŸा आयोग में वर्तमान सरकार द्वारा बढ़ाकर 1 लाख 37 हजार 927 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है।
श्री शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छŸाीसगढ़ का चहुंमुखी विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि छ.ग. का बजट पहले 9 हजार करोड़ रूपए का था जो अब बढ़कर 83 हजार 169 करोड़ रूपए हो गया है। श्री शाह ने बताया कि छŸाीसगढ़ में बिजली उत्पादन पहले 4 हजार मेगावाट थी जो अब बढ़कर 22 हजार मेगावाट हो गई है। उन्होंने कहा कि छŸाीसगढ़ देष का पहला बिजली सरप्लस राज्य और जीरो पॉवर कट राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि पहले विद्युतीकरण का प्रतिशत 70 था जो अब बढ़कर 98 प्रतिशत से अधिक हो गया है। श्री शाह ने कहा कि पहले छŸाीसगढ़ में विद्युतीकृत पम्पों की संख्या 72 हजार थी जो अब बढ़कर 4 लाख 50 हजार हो गई है। श्री शाह ने बताया कि छत्तीसगढ़ में खाद्यान्न उत्पादन में भी विपुल वृद्धि हुई है। इसके साथ ही उद्यानिकी फसलों, मछली और मुर्गी पालन एवं उत्पादन में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।
राज्य सभा सांसद श्री शाह ने कहा कि छŸाीसगढ़ में मेडिकल कॉलेज जिसकी संख्या 2 थी अब बढ़कर उसकी संख्या 10 हो गई है और सीटों की संख्या बढ़कर 1100 हो गई है। श्री शाह ने कहा कि नक्सली समस्या के उन्मूलन की दिशा में राज्य सरकार देश में सबसे बेहतर कार्य कर रही है। श्री शाह ने आश्वस्त किया कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्गों के लिए मौजूदा आरक्षण के निर्धारित प्रावधानों में कोई बदलाव नहीं होगा।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अम्बिकापुर में आयोजित विशाल आमसभा में सरगुजावासियों के जोश और उत्साह की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने 20-25 वर्षों के अपने राजनीतिक जीवन में ऐसा जोश-खरोश के साथ अभूतपूर्व स्वागत पहली बार देखा है। उन्होंने कहा कि आज विकास रथ यात्रा के दौरान त्रि-स्तरीय स्वागत किया गया जिसमें जमीन से छत से और आकाश से सरगुजावासियों ने ऐतिहासिक स्वागत किया। उन्होंने देश के सामाजिक जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन जाने वाले श्री शाह का स्वागत करते हुए कहा कि सरगुजा छŸाीसगढ़ का मुकुट है, जिस पर तिलक लगाने के लिए राज्य सभा सांसद श्री शाह आये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले सरगुजा के लोग गरीबी के कारण कनकी, खुद्दी खाते थे, लेकिन राज्य सरकार द्वारा गरीबों को एक रूपए किलो में चावल उपलब्ध कराने से अब सरगुजा के हॉट बाजारों से कनकी, खुद्दी गायब हो गया। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने सरगुजा क्षेत्र में सड़क और रेल कनेक्टिविटी से पहले ही जुड़ गया था और एयर कनेक्टिविटी से जुड़ने जा रहा है, जिससे सरगुजा क्षेत्र के हवाई चप्पल पहनकर चलने वाले लोग अब हवाई यात्रा करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 6 हजार किलोमीटर केबल लाईन बिछाई जा रही है और 9 हजार ग्राम पंचायतों में इंटरनेट की सुविधा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि 50 लाख महिलाओं को स्मार्टफोन दिए जाएंगे, जिससे अपने गांवों में बैठक कर देश दुनिया में बात करेंगे। उन्होंने कहा कि पहले दिल की बीमारी, कैंसर, लीवर तथा घुटना बदलने आदि गंभीर बीमारी के इलाज के लिए लोगों को पहले अपने घर, मकान, बेचना पड़ता था अब राज्य के 37 लाख परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रूपए तक की निःशुल्क इलाज की सुविधा दी गई है, जो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का अभूतपूर्व निर्णय है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि 2022 तक राज्य के सभी आवासहीन परिवारों को पक्का आवास उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि आगामी 4 माह में सभी घरों में बिजली कनेक्शन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि देश के साफ-सुथरा शहरों में अम्बिकापुर का स्थान पहला है।  आमसभा को केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णु देव साय और सरगुजा सांसद श्री कमलभान सिंह ने भी सम्बोधित किया।  

राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ विकास यात्रा में अग्रसेन चौक से आम सभा स्थल तक रोड शो में शामिल हुए। आमसभा में मुख्य अतिथि की आसंदी से राज्य सभा सांसद श्री शाह ने केन्द्र शासन की महत्वाकांक्षी जनकल्याणकारी योजनाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य में योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर मिली उपलब्धियों को रेखांकित कर इसकी सराहना की। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अध्यक्षीय आसंदी से कहा कि पंचायत एवं नगरीय निकाय संवंर्ग के शिक्षकों के संविलियन के संबंध में जल्द ही कैबिनेट की बैठक लेकर इसका क्रियान्वयन किया जाएगा। आमसभा में छत्तीसगढ़ राज्य से सबसे पहले माउंट एवरेस्ट फतह करने वाले अम्बिकापुर के युवा श्री राहुल गुप्ता को राज्य सभा सांसद श्री शाह और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने संयुक्त रूप से सम्मानित किया। इस अवसर पर राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह को पंडित दीनदयाल के तेलचित्र प्रतीक चिन्ह के रूप में भेंट किया गया।
सरगुजा जिले के मुख्यालय अम्बिकापुर के शासकीय पी.जी. कॉलेज मैदान में विशाल आमसभा में राज्यसभा सांसद श्री अमित शाह और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज जिले की जनता को 165 करोड़ 26 लाख रूपए के 58 विभिन्न निर्माण कार्यों की सौगात दी। इनमें से 37 करोड़ 73 लाख रूपए के पूर्ण हो चुके 17 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 91 करोड़ 82 लाख रूपए के 41 नये स्वीकृत निर्माण कार्यों का भूमिपूजन तथा शिलान्यास शामिल है। इनमें विद्युत उपकेन्द्र, सड़क, पुलिया, ट्रांजिट हास्टल, जल प्रदाय योजना आदि से संबंधित निर्माण कार्य शामिल हैं। राज्य सभा सांसद श्री शाह और मुख्यमंत्री डॉ. सिंह इस मौके पर 35 हजार 290 हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान सामग्री और सहायता राशि का भी वितरण किया। आमसभा में लगभग 22 हजार किसानों के बैंक खातों में 34 करोड़ रूपए का धान बोनस ऑनलाइन जमा कराया गया।
आम सभा में जिन कार्याें का लोकार्पण किया गया, उनमें एक करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से निर्मित स्वच्छता चेतना उद्यान, 2 करोड़ 11 लाख रूपए की लागत से निर्मित ग्राम पंचायत रामपुर के अन्तर्गत जोगी बांध चिट्कीपारा से केराकछार मार्ग पर पुलिया निर्माण, 2 करोड़ 90 लाख रूपए की लागत से 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्र औद्यौगिक क्षेत्र बनारस रोड और सांड़बार का लोकर्पण किया गया। इसके अलावा 19 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से निर्मित दरिमा बड़ेदमाली, लखनपुर मार्ग में चौड़ीकरण एवं मजबूतीकरण कार्य, 2 करोड़ 12 लाख रूपए की लागत से निर्मित लखनपुर पुहपुटरा से चन्दनई नदी पुल तक सड़क निर्माण, 33 लाख रूपए की लागत से निर्मित शासकीय पॉलीटेकनिक अम्बिकापुर मेें अधीक्षिका और चौकीदार आवास का निर्माण, एक करोड़ 40 लाख रूपए की लागत से निर्मित पीजी कॉलेज अम्बिकापुर में 8 अतिरिक्त कक्ष का निर्माण, 2 करोड़ 7 लाख 27 हजार रूपए की लागत से सरगुजा जिले के लखनपुर में नवीन आई.टी.आई. भवन, 2 करोड़ 41 लाख रूपए की लागत से सेमरडीह से सखौली मार्ग के गागर नदी में पुल का लोकार्पण शामिल है।
आम सभा में जिन नए स्वीकृत कार्यों का शिलान्यास किया गया, इनमें मुख्य रूप से उदयपुर विकासखण्ड के तहत कंवलगिरी सरगंवा मार्ग पर 6 करोड़ 93 लाख रूपये की लागत से रेड़ नदी पर बनने वाले पुल, 23 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से केदमा से बड़े गावं तक सड़क और पुलिया, 10 करोड़ 41 लाख रूपए की लागत से अम्बिकापुर में बनने वाले ट्रांजिट हॉस्टल, 2 करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से शासकीय विज्ञान महाविद्यालय अम्बिकापुर में 100 सीटर कन्या छात्रावास भवन, 11 करोड़ 30 लाख रूपए की लागत से सरगुजा विश्वविद्यालय एवं अम्बिकापुर में ग्रंथालय भवन, ऑडिटोरियम, सहित अन्य कार्य, 16 करोड़ 81 लाख रूपए की लागत से सरगुजा विश्वविद्यालय अम्बिकापुर में प्रशासकीय भवन, सहित अन्य निर्माण, 6 करोड़ 21 लाख 41 हजार रूपए की लागत से टी 2 हंसडांड लटोरी से दर्रीपारा 12.50 किलोमीटर लखनपुर विकासखण्ड, 4 करोड़ 26 लाख 60 हजार रूपए की लागत से टी 3 अम्बिकापुर-बिलासपुर रोड गुुमगराकला तक सड़क, शिलान्यास किया गया।
इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णुदेव साय, विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरी शंकर अग्रवाल, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री नंदकुमार साय, गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, श्रम मंत्री श्री भईया लाल राजवाड़े, वनमंत्री श्री महेश गागड़ा, पर्यटन मंत्री श्री दयाल दास बघेल, राज्य सभा सांसद सुश्री सरोज पाण्डेय, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक, राज्य सभा सांसद श्री रामविचार नेताम, लोक सभा सांसद श्री कमल भान सिंह, संसदीय सचिव श्रीमती चम्पादेवी पावले सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं वरिष्ठ अधिकारी और अपार जनसमूह में उपस्थित थे।

Source:Agency