ब्रेक्सिट को लेकर ब्रिटेन की सरकार में उथल-पुथल

By Jagatvisio :11-07-2018 06:42


सोमवार को दो मंत्रियों के इस्तीफ़े के बाद ब्रिटेन में एक बड़ा राजनीतिक संकट पैदा हो गया है, जिससे ख़ुद ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे की कुर्सी ख़तरे में नज़र आ रही है. ब्रेक्सिट यानी यूरोपीय संघ से अलग होने के लिए हुए जनमत संग्रह के बाद की प्रक्रिया को लेकर सत्तारूढ़ कंज़र्वेटिव पार्टी की सरकार और प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे की कैबिनेट में फूट पड़ गई है.

ब्रेक्सिट पर सख़्त लाइन लेने वाले गुट का आरोप है कि ब्रिटेन के अलग होने का प्रधानमंत्री का फ़ॉर्मूला देश को यूरोपीय संघ से पूरी तरह से अलग करने में नाकाम रहेगा. कंजर्वेटिव पार्टी के दो उपाध्यक्षों मारिया कॉलफील्ड और बेन ब्रैडले ने भी इसी मुद्दे पर इस्तीफा दे दिया है. दोनों ने चेताया है कि ब्रेक्सिट का वादा पूरा न कर पाने की स्थिति में वे अपनी सीटें नहीं जीत पाएंगे. मारिया कॉलफील्ड ने कहा कि प्रधानमंत्री मे की योजना देश और पार्टी दोनों के लिए बुरी होगी.

उनके अनुसार कई क्षेत्रों में ब्रिटेन और संघ के बीच पुराने रिश्ते जारी रहेंगे. उनका कहना है कि जनमत संग्रह में लोगों ने संघ से पूरी तरह से अलग होने का फ़ैसला दिया था ना कि अधूरे तौर पर. उनका आरोप है कि प्रधानमंत्री के फ़ॉर्मूले से ये महसूस होता है कि ब्रिटेन का एक पैर संघ के अंदर होगा और एक बाहर. प्रधानमंत्री के फ़ॉर्मूले के पक्ष में राय रखने वाले इसे आज की परिस्थितियों में सबसे अच्छा सूत्र मानते हैं. वो कहते हैं कि आज की परस्पर निर्भर अर्थव्यवस्था में कोई देश पड़ोसियों से अलग-थलग नहीं रह सकता.
 

Source:Agency