संदिग्ध सनातन संस्था कार्यकर्ता के घर छापा, मिला धमाके का सामान

By Jagatvisio :10-08-2018 07:06


महाराष्ट्र एंटी टेरर स्कवॉयड (एटीएस) ने शुक्रवार तड़के मुंबई में एक घर पर छापा मारकर एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। एटीएस को आरोपी के घर से धमाके का सामान भी बरामद हुआ है। फिलहाल एटीएस आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि आरोपी सनातन संस्था का कार्यकर्ता है। खबर के अनुसार, एटीएस की एक टीम ने खूफिया सूचना के आधार पर शुक्रवार तड़के महाराष्ट्र के पालघर इलाके में वैभव राउत नामक व्यक्ति के घर पर छापा मारा। इस छापे में एटीएस की टीम को वैभव के घर से करीब 8 देशी बम, आपत्तिजनक साहित्य, गन पाउडर और डेटोनेटर आदि सामान बरामद हुआ है।

एटीएस को वैभव के घर के नजदीक स्थित एक दुकान से भी कुछ संदिग्ध सामान मिला है, जिसे एटीएस की टीम ने सील कर कब्जे में ले लिया है। एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी के नेतृत्व में मारे गए इस छापे में एटीएस की टीम के साथ डॉग स्कवॉयड भी मौजूद थी। एटीएस के अधिकारियों का कहना है कि उनकी पिछले कुछ समय से वैभव पर नजर थी। बताया जा रहा है कि वैभव राउत सनातन संस्था और हिंदू जनजागृति समिति का सदस्य है। वहीं आरोपी के घर से मिले संदिग्ध सामान को जांच के लिए मुंबई फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी भेज दिया गया है। एटीएस के अधिकारियों का कहना है कि यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है वैभव राउत के घर से मिले सामान का सोर्स क्या है और आरोपी इसका इस्तेमाल कहां किया जाना था?
हालांकि सनातन संस्था ने आरोपी के संस्था से जुड़े होने के दावों को नकार दिया है। सनातन संस्था के वकील संजीव पुनेलिकार ने मीडिया से बातचीत में बताया कि वह संस्था के सदस्य का परिचित है और वह एक हिंदुत्व कार्यकर्ता है, हालांकि वह हमारा सदस्य नहीं है। पुनेलिकार ने यह भी कहा कि संस्था वैभव राउत को कानूनी मदद देगी। बता दें कि सनातन संस्था से जुड़े लोगों को ही वाशी, ठाणे, पनवेल और गोवा में हुए बम धमाकों के मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके अलावा नरेंद्र दाभोलकर, गोविंद पनसारे, एमएम कलबुर्गी और हाल ही में गौरी लंकेश की हत्या में भी सनातन संस्था से जुड़े लोगों के नाम सामने आए हैं।

Source:Agency