टैफे का मुफ्त ट्रैक्टर रेन्टल प्लेटफॉर्म -जेफार्म सर्विसेज लॉन्च

By Jagatvisio :09-10-2018 07:07


बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने पटना में किया लॉन्च

  •    छोटे और सीमांत किसानों के समर्थन के लिए टैफे की सामाजिक पहल
  •    किसान-से-किसान मॉडल (एफ2एफ) - किसान किराये पर ट्रैक्टर और उपकरणों के सभी ब्रांडों    की पेशकश कर सकते हैं। 
  •    यह ग्रामीण उद्यमिता में मदद करता है और किसानों के लिए अतिरिक्त राजस्व पैदा करता है। 

पटना, बिहाररू टैफे की ‘कल्टिवेटिंग इंडिया  कल्टिवेटिंग द वर्ल्ड’ की सोच ने इसकी देशव्यापी सामाजिक पहल - श्जेफार्म सर्विसेज और श्जेफार्म सर्विसेज ऐप  के विस्तार के लिए मार्ग प्रशस्त किया है। इस अनूठी पहल को बिहार के कृषि मंत्री माननीय डॉ.प्रेम कुमार की मौजूदगी में बिहार एग्रीकल्चरल ग्रोथ एंड रिफॉर्म इनिशिएटिव  के अंतर्गत बिहार सरकार के कृषि विभागके साथ संयुक्त रूप से लॉन्च किया गया है। जेफार्म सर्विसेज किसानों को ट्रैक्टर और आधुनिक कृषि मशीनरी किराये पर लेने की मुफ्त सुविधा प्रदान करता है।

बिहार में आजीविका का मुख्य स्रोत कृषि है और राज्य के विकास के लिए कृषि क्षेत्र का विकास करना महत्वपूर्ण है। बिहार की 92 प्रतिशत क्षेत्रफल भूमि पर छोटे और सीमांत किसान खेती करते हैं, जिनकी कृषि से सम्बंधित मशीनीकरण तक पहुंच सीमित है या बिल्कुल नहीं है। जेफार्म सर्विसेज ने बिहार के 11 जिलों (बेगूसराय, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, गया, नालंदा, पटना, रोहतास, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर और वैशाली) में अपनी सेवाएं लॉन्च करने और अगले वर्ष तक पूरे बिहार में विस्तार करने का प्रस्ताव रखा है। पूरे बिहार में छोटी जोत की जमीन रखने वाले किसान अब अपनी उत्पादकता और आय में उल्लेखनीय वृद्धि के लिए अत्याधुनिक कृषि उपकरण किराए पर ले सकते हैं।

जेफार्म सर्विसेज ऐप पारदर्शी तरीके से किफायती कृषि मशीनीकरण की सेवाओं के माध्यम से किसानों को सशक्त बनाएगा। मुफ्त जेफार्म सर्विसेज ऐप के ष्किसान-से-किसान मॉडलष् (एफ2एफ) के माध्यम से अपने मौजूदा ट्रैक्टर और कृषि उपकरण किराए पर देने वाले किसानों को सीधे इन उपकरणों को लेने के इच्छुक किसानों से जोड़ दिया जाता है। यह ऐप उनको किसान उद्यमियों से सीधे संपर्क करने, किराये की कीमतें तय करने और अपनी संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम बनाता है। इस नये प्लेटफार्म के साथ, टैफे किसानों की आय बढ़ाने के लिए टैक्नोलॉजी में सक्षम साझा अर्थव्यवस्था के लाभ प्रदान करता है।

टैफे की चेयरमैन और सीईओ सुश्री मल्लिका श्रीनिवासन ने कहा कि भारत छोटी जोत के किसानों की भूमि है। हमारे अधिकांश, लगभग 85 प्रतिशत किसानों की उस कृषि मशीनीकरण तक पहुंच ही नहीं है, जिसमें उनकी उपज और आय में सुधार करने की क्षमता है। जेफार्म सर्विसेज एक सामाजिक पहल है जो किसानों को अपने ट्रैक्टर और कृषि उपकरण किराए पर देने की सुविधा प्रदान करती है और इस सेवा की जरूरतमंद छोटे किसान जेफार्म सर्विसेज ऐप से सीधे लाभान्वित होते हैं। 2022 तक कृषि आय को दोगुनी करने के प्रधान मंत्री के दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए देश भर में लाखों किसानों के जीवन में बदलाव लाना हमारा लक्ष्य हैं।

किसान जेफार्म सर्विसेज एंड्रॉइड ऐप के माध्यम से या टोल फ्री हेल्पलाइन 1800-4-200-100 से संपर्क करके ट्रैक्टर और उपकरण किराए पर ले सकते हैं। ऐप का उपयोग सस्ते एंड्रॉइड फोन पर किया जा सकता है और इस ऐप को ऐसे डिजाइन किया गया है कि यह बहुत कम डेटा पर भी चल सके। जिन किसानों के पास स्मार्ट या फीचर फोन नहीं हैं, वे टोल-फ्री हेल्पलाइन का उपयोग कर सकते हैं। यह प्लेटफार्म बिना किसी शुल्क के स्थानीय मौसम, बाजार तथा कृषि-समाचार और मंडी की कीमतों के बारे में एक समयांतराल पर ताजा सूचनाएं भी प्रदान करता है।

टैफे के प्रेसिडेंट और सीओओ, प्रोडक्ट स्ट्रेटजी और कॉर्पोरेट रिलेशंस, श्री टी. आर. केसवन ने कहा कि ष्जेफार्म सर्विसेज के माध्यम से टैफे ने  पहल के अर्तंगत बिहार सरकार के साथ मिलकर कार्य कर रही है ताकि राज्य में सतत् कृषि उत्पादकता और विकास हो सके। इस सांझी अर्थव्यवस्था के प्रारूप के ज़रिये छोटे और सीमांत किसानों के लिए कृषि मशीनीकरण उपलब्ध कराया जा सकेगा।

जेफार्म सर्विसेज के प्रारंभिक पायलट परियोजना को मध्य प्रदेश और राजस्थान जैसे बड़े राज्यों में लागू किया गया था। जेफार्म सर्विसेज ने लगभग 60,000 उपयोगकर्ताओं को सीधे लाभ पहुंचाया है जिससे 100,000 से अधिक के ऑर्डर मिले हैं और इसमें किराए पर कृषि मशीनरी के उपयोग के 250,000 घंटे से अधिक शामिल हैं।

जेफार्म और जेफार्म सर्विसेज के बारे में

टैफे ने 1964 में चेन्नई (तमिलनाडु) में कृषि उत्पादकता बढ़ाने और भारत की बढ़ती खाद्य मांगों को पूरा करने के लिए उन्नत कृषि प्रौद्योगिकियों के साथ किसानों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से जेफार्म इंडिया की स्थापना की थी। पिछले कुछ वर्षों में, जेफार्म ने पानी की सीमित उपलब्धता से लेकर इनपुट लागत और श्रमिकों की कमी जैसी कई चुनौती पूर्ण स्थितियों में काम किया है और एक व्यावहारिक और टिकाऊ मॉडल विकसित किया है जो कृषि उत्पादकता, लाभप्रदता और आजीविका के अवसरों को बेहतर बनाने में योगदान देता है।

जेफार्म सर्विसेज टैफे की एक पहलकदमी है, जो छोटी और बड़ी जोत के खेतों, स्थानीय मौसम पूर्वानुमान, मंडी की ताजा कीमतों, कृषि समाचार अलर्ट और एडवाइजरी के लिए ट्रैक्टर और कृषि उपकरणों के किराये के माध्यम से   कृषि मशीनीकरण समाधानों तक आसान पहुंच बढ़ाती है छोटे और सीमांत किसान, जो भारत में 80 प्रतिशत से अधिक भूमि पर खेती करते हैं, ट्रैक्टर या उपकरण नहीं खरीद सकते हैं। जेफार्म सर्विसेज इन किसानों को ट्रैक्टर और उपकरण रखने वाले मालिकों के साथ अपने किसान-से-किसान प्लेटफार्म के माध्यम से जोड़कर इस अंतर को समाप्त करती है। किसान निम्नलिखित ऐप या टोल-फ्री नम्बर से निकटतम उपकरण का पता लगा सकते हैं और बुक कर सकते हैं

जेफार्म सर्विसेज एंड्रायड ऐप टोल-फ्री हेल्पलाइनरू 1800-4-200-100

मुफ्त में एपलब्ध यह ऐप ट्रैक्टर मालिकों और और उपकरण मालिकों द्वारा संचालित किये जाने वाले कस्टम हायरिंग सेन्टर्स (सीएचसी) को सीधे उन किसानों से जोड़ता है जिनको कृषि मशीनीकरण समाधान की आवश्यकता है। इससे गुणवत्ता,निर्भरता और समय पर वितरण पर ध्यान केंद्रित करते हुए निष्पक्ष और पारदर्शी किराये की प्रक्रिया की सुविधा मिलती है। जेफार्म सर्विसेज किसानों और किराएदारों को कृषि उपकरणों की मांग और किराए पर लेने की संभावनाओं की एक विस्तृत रेंज प्रदान करती है और उन्हें सीधे सम्बंधित आवश्यकता के लिए बातचीत करने और उस आवश्यकता को पूरा करने के लिए जोड़ती है।

इस प्लेटफार्म के निर्माण के साथ, जिसमें कृषि मशीनरी मालिक और उपयोगकर्ता शामिल हैं, जेफार्म सर्विसेज ने 2017 में अपनी स्थापना के बाद से भारत के 4 राज्यों में 60,000 से अधिक किसानों के जीवन को प्रभावित किया है।

वर्तमान में,जेफार्म सर्विसेज (जेएफएस) कृषि मशीनीकरण को सभी के लिए व्यवहारिक और सस्ती बनाते हुए राजस्थान,गुजरात,मध्य प्रदेश (एमपी) और उत्तर प्रदेश (यूपी) में सक्रिय है। जेफार्म सर्विसेज नए ग्रामीण उद्यमी, काम करने के महत्वपूर्ण अवसर और रोजगार पैदा करते हुए भारतीय किसानों के डिजिटल सशक्तिकरण को आगे बढ़ा रहा है।

टैफे के बारे में

निर्माण क्षमता और सालाना 1,50,000 ट्रेक्टरों की बिक्री के साथ टैफे विश्व का तीसरा औरे भारत का दूसरा सबसे बड़ा ट्रेक्टर विनिर्माता है, टैफे रू 93 बिलियन वाले कारोबार के साथ भारत के अग्रणी ट्रेक्टर निर्यातकों में से एक है।  टैफेएयर-कूल्ड और वाटर-कूल्ड प्लेटफार्म दोनों में ट्रेक्टरों का विनिर्माण करता है और इन्हें अपने चार प्रतिष्ठित ब्रांड - मैसी फर्ग्यूसन, टैफे, आयशर और हाल में अधिप्राप्त सर्बियन ट्रैक्टर और कृषि उपकरण ब्रांड - आई.एम.टी के अंतर्गत इनका विपणन करता है। टैफे की गुणवत्ता और विश्वसनीयता के कारण इसके उत्पाद और सेवाएं दुनिया भर के 100 से भी अधिक देशों में मौजूद है जिसमें अमेरिका और यूरोप के विकसित देश भी शामिल हैं। 

टैफे की अनुकूल कृषि अनुसंधान केंद्र “जेफार्म” ने एकीकृत कृषि पद्धतियों का एक प्रतिमान विकसित किया है जो छोटे और बड़े खेतों दोनों के लिए उपयुक्त है और जिससे उत्पादकता बढ़ रही है। कृषि को अधिक सतत और लाभकारी बनाने के लिए यह पोषक तत्वों के प्रबंधन की एक संतुलित पद्धति अपनाता है जिसमे निम्न लागत कृषि निवेश निर्माण पर बल दिया गया है और जो यंत्रीकरण, परीक्षित मिट्टी और जल प्रबंधन पद्धतियों, उचित शस्य और बीज का चुनाव, उन्नत शस्य उत्पादन और सुरक्षा प्रोद्योगिकियों द्वारा समर्थित है।

ट्रैक्टर और कृषि मशीनों के अलावा, टैफेडीजल इंजन, साइलेंट जेनसेट, बैटरियां, हाइड्रोलिक पम्प और सिलिंडर, गियर और ट्रांसमिशन के पुर्जे भी बनाता है और वाहनों की शाखा प्रचालनों और प्लांटेशन के व्यवसाय में भी रूचि रखता है। टैफे सकल गुणवत्ता  के प्रति कटिबद्ध है। हाल ही में टैफे के कई विनिर्माण संयंत्रों को जापान संयंत्र रखरखाव संस्था  के तरफ से कई ‘ज्च्ड उत्कृष्टता पुरस्कार’ मिले हैं, और साथ ही ज्च्ड उत्कृष्टता के लिए कई अन्य स्थानीय पुरस्कार भी मिले हैं। 2018 में टैफे फ्रॉस्ट और सलिवन ग्लोबल विनिर्माण अग्रणी पुरस्कार जीतने वाला पहला भारतीय ट्रैक्टर विनिर्माता बना और ‘उद्यम समेकन एवं प्रोद्योगिकी अग्रणी पुरस्कार’ और दो ‘आपूर्ति श्रृंखला अग्रणी पुरस्कार’ से मान्यता प्रदान किया गया है। अभियांत्रिकी निर्यातों के प्रति इसके विशेष योगदान को मान्यता प्रदान करते हुए, टैफे को लगातार 21वीं बार 40वीं भारतीय अभियांत्रिकी निर्यात प्रोन्नति परिषद् - दक्षिणी क्षेत्र पुरस्कार (2015-16) में ‘स्टार परफॉर्मर दृ बड़ी उद्योग (कृषि ट्रैक्टर)’ का खिताब मिला है। टैफे को टोयोटा मोटर कंपनी, जापान के तरफ से गुणवत्ता आपूर्तियों के लिए ‘क्षेत्रीय योगदानकर्ता पुरस्कार’ और द्वितीय एशिया विनिर्माण आपूर्ति श्रृंखला सम्मेलन में वर्ष 2013 में अपने आपूर्ति श्रृंखला के रूपांतरण के लिए ‘विनिर्माण आपूर्ति श्रृंखला परिचालन उत्कृष्टता दृ ऑटोमोबाइल पुरस्कार’ से भी नवाजा गया है। टैफे के ट्रैक्टर संयंत्रों को दक्ष गुणवत्ता प्रबंधन तंत्रों के लिए ISO9001 और पर्यावरण अनुकूल परिचालनों के लिए ISO14001 के अधीन प्रमाणित किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए लिंक्सरू
Site - JFarmServices.in | Android App – JFarmServices | Facebook - JFarm Services

Source:Agency