गैस सिलेंडर की कीमत हुई 955, सब्सिडी बंद कराने वाले भी अब उसकी दौड़ में

By Jagatvisio :10-10-2018 07:51


रायपुर । पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने जहां आम आदमी का जीना मुश्किल कर दिया है, वहीं दूसरी ओर इन दिनों घरों की हर महीने की रसोई यानी गैस सिलेंडर महंगा होता जा रहा है। बीते छह महीनों में गैस सिलेंडर करीब 400 रुपये महंगा हो चुका है। अब अक्टूबर में इसकी कीमत 955 रुपये पहुंच चुकी है। इस प्रकार लगातार बढ़ती कीमतों को देखते हुए इन दिनों गैस सब्सिडी बंद करने वाले उपभोक्ताओं द्वारा भी अपनी सब्सिडी चालू करवाने के लिए आवेदन किए जा रहे हैं। इसके लिए होड़ लगी हुई है।

गैस एजेंसी संचालकों का कहना है कि जब से कंपनियों ने यह सब्सिडी वापस मिलने की सुविधा की बात कही है, बीते कुछ दिनों में फिर से सब्सिडी चाहने वाले आवेदनों की संख्या सैकड़ों पहुंच गई है। ये आवेदन ऑनलाइन के साथ ही गैस एजेंसियों में भी दिए जा रहे हैं। गैस कंपनी अधिकारियों का कहना है कि जिन उपभोक्ताओं ने भी अपनी गैस सब्सिडी बंद कर दी है और दोबारा शुरू करवाना चाहते हैं तो वे कंपनी के ऑनलाइन पोर्टल में या गैस एजेंसी में आवेदन कर सकते है। बस उन्हें यह ध्यान रखना होगा कि उनकी आय 10 लाख से अधिक न हो। आवेदन की जांच होते ही अगली सिलेंडर की डिलिवरी से सब्सिडी शुरू हो जाएगी।

उपभोक्ताओं ने यह कहा

छह महीने से नहीं आ रही सब्सिडी

गैस सब्सिडी पिछले छह माह से खाते में नहीं आ रही है। इसके लिए लगातार गैस एजेंसी से भी संपर्क किया जा रहा है - संदीप ठाकरे, चंगोराभाठा

सालभर पहले सही था, अभी मालूम नहीं

सालभर पहले तो सब्सिडी सही आ रही थी, लेकिन पिछले कुछ महीनों से कभी आती है तो कभी नहीं आती - हरी भाई, उपभोक्ता

आवेदन देने आया था

सब्सिडी नहीं आ पा रही थी। इसके लिए ही गैस एजेंसी में आकर पतासाजी करने आया था तथा अब सुधार हो गया - सुंदरलाल, उपभोक्ता

मालूम नहीं

सिलेंडर लेने पहुंचे एक उपभोक्ता का कहना है कि सब्सिडी के मामले में मालूम नहीं कि आ रही है या नहीं, वैसे पहले सब्सिडी आ रही थी- रणवीर, उपभोक्ता

सिलेंडरों की बिक्री आठ फीसद घटी

गैस एजेंसी संचालकों का कहना है कि गैस कीमत आसमान छूती जा रही है और साढ़े नौ सौ रुपये पार हो गई है। सिलेंडरों की बिक्री में भी आठ फीसद तक गिरावट आ गई है। गैस सिलेंडर लेने की अपेक्षा उपभोक्ता इन दिनों बहुत से कामों से बिजली के उपकरणों का उपयोग करने लगे है। इसके चलते बीते दो महीनों से आठ फीसद तक गैस सिलेंडरों की बिक्री में कमी आ गई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं बिक रहे स्कीमों के सिलेंडर

गैस एजेंसी कारोबार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि इन दिनों सिलेंडर की कीमत इतनी हो गई है कि शहरी क्षेत्रों में तो गैस सिलेंडरों की बिक्री कुछ हद तक ठीक है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में स्कीमों में मिलने वाले गैस सिलेंडरों की बिक्री भी नहीं हो पा रही है। महंगाई के डर से उपभोक्ता इन्हें भी लेना पसंद नहीं कर रहे हैं।

10 लाख से कम आय वाले कर सकते हैं सब्सिडी का आवेदन

दस लाख रुपये से कम आय वाले उपभोक्ता गैस सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकते हैं। ये आवेदन कंपनी के ऑनलाइन पोर्टल में जाकर या सीधे गैस एजेंसी में किए जा सकते हैं। आवेदन की जांच होने के बाद अगली गैस सिलेंडर की डिलीवरी से उपभोक्ता के खाते में गैस सब्सिडी आनी शुरू हो जाएगी - एसएम दास, क्षेत्रीय अधिकारी, इण्डेन ऑयल

सब्सिडी चाहने वालों की तादाद बढ़ी

इन दिनों जिन लोगों ने अपनी गैस सब्सिडी छोड़ दी थी। ऐसे उपभोक्ता भी लगातार बढ़ रही गैस सिलेंडर की कीमत को देखते हुए सब्सिडी के लिए आवेदन करने लगे हैं। कंपनी तो इन दिनों लगातार अपनी सर्विस सुविधा में बढ़ोतरी करती जा रही है तथा उपभोक्ताओं का ध्यान रख रही है - अब्दुल हमीद हयात, संरक्षक,छत्तीसगढ़ पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन

Source:Agency