पढ़ाते नहीं सिर्फ गप मारते हैं शिक्षक, तीन प्रिंसिपल सहित 20 को नोटिस

By Jagatvisio :12-10-2018 07:55


रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग राजधानी के जिस स्कूल को अंग्रेजी माध्यम में तब्दील करके यहां के बच्चों का भविष्य सुनहरा करने का दावा किया है वहीं के शिक्षक लापरवाही कर रहे हैं। आलम यह है कि जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से महज 100 मीटर की दूरी पर स्थित सरकारी प्राइमरी स्कूल विवेकानंद नगर और सरकारी अपर प्राइमरी स्कूल विवेकानंद नगर के शिक्षक बच्चों को पढ़ाने के बजाय एक कक्ष में बैठकर गप मारते हैं।

यह जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) एएन बंजारा और सहायक संचालक डॉ. आरएस चौहान के औचक निरीक्षण में सामने आया। इसी तरह लालपुर प्राइमरी स्कूल में शिक्षकों की मनमानी इतनी है कि यहां प्रधानपाठक से लेकर शिक्षक तक तय समय से पहले स्कूल में ताला लगाते हुए पकड़े गये।

डीईओ ने प्राइमरी स्कूल विवेकानंद नगर रायपुर की प्रधानपाठक नारन देवी नायडू एवं उनके शिक्षक, सरकारी अपर प्राइमरी स्कूल विवेकानंद नगर की प्रधानपाठक संजना मिश्रा और उनके सभी शिक्षक एवं सरकारी प्राइमरी स्कूल लालपुर के प्रधानपाठक जेएल वर्मा और उनके सभी शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

तीन दिन के भीतर यदि जवाब नहीं मिला तो एकतरफा कार्रवाई की जाएगी। तीनों स्कूलों के प्रधानपाठक समेत 20 शिक्षकों पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। फिलहाल डीईओ ने नोटिस देकर कहा है कि आपका कृत्य छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम 3 के उपनियमों के विरुद्ध है अतः आपको सिविल सेवा नियम 1966 की कंडिका 10 के आधार पर आपकी और आपके स्कूल में पदस्थ शिक्षकों की वेतनवृद्धि संचय प्रभाव से क्यों न रोक दी जाये।

इसी साल अंग्रेजी माध्यम में बदले हैं स्कूल

सरकारी प्राइमरी स्कूल विवेकानंद नगर और सरकारी अपर प्राइमरी स्कूल विवेकानंद नगर स्कूल को राज्य सरकार ने इसी साल अंग्रेजी माध्यम में बदला है। यहां पहली और छठवीं कक्षा में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई करवाई जा रही है।

डीईओ इन्हीं गतिविधियों को देखने पहुंचे थे। बताया जाता है कि सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक स्कूल का समय निर्धारित है। सुबह 11 बजे जब डीईओ एएन बंजारा की टीम पहुंची तो सभी प्राइमरी और अपर प्राइमरी के शिक्षक एक कक्षा में बतियाते बैठे दिखे। कक्षाओं में एक भी शिक्षक नहीं दिखने से डीईओ बंजारा भड़क गये। उन्होंने प्रधानपाठक समेत शिक्षकों को जमकर फटकार लगाई।

बच्चों को छुट्टी देकर भाग जाते हैं शिक्षक-प्रधानपाठक

सरकारी प्राइमरी स्कूल लालपुर में लापरवाही की पराकाष्ठा हो है। यहां के प्रधानपाठक जेएल वर्मा और उनके शिक्षक समय से पहले ही स्कूल की छुट्टी कर घर भाग जाते हैं। जिला शिक्षा विभाग के अफसरों को लगातार शिकायत मिल रही थी। डीईओ की टीम ने जब औचक निरीक्षण किया तो शिकायत साबित हुई। स्कूल एक पाली में लगता है ।

यहां सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक स्कूल का समय निर्धारित है, लेकिन शिक्षक और प्रधानपाठक तय समय से पहले ही अपने घर की ओर रवाना हो चुके थे। तय समय से पहले ही स्कूल के गेट पर ताला मिला। लिहाजा नौ अक्टूबर को स्कूल परिसर पर मौके पर पहुंचे डीईओ एएन बंजारा भड़के और उन्होंने प्रधानपाठक समेत सभी शिक्षकों को तीन दिन के भीतर स्पष्टीकरण देने के लिए नोटिस जारी कर दिया। यदि शिक्षकों की ओर से तय समय पर संतोषजनक उत्तर नहीं मिला तो एकतरफा कार्रवाई में निलंबन की गाज गिर सकती है।

Source:Agency